Air India third worst performing Airline in the world- Dainik Bhaskar
Advertisement

ये हैं दुनिया की 10 सबसे घटिया एयरलाइंस, एयर इंडिया तीसरे नंबर पर

dainikbhaskar.com | Jan 10,2017 12:20 PM IST
  • ये हैं दुनिया की 10 सबसे घटिया एयरलाइंस, एयर इंडिया तीसरे नंबर पर
  • ये हैं दुनिया की 10 सबसे घटिया एयरलाइंस,एयर इंडिया तीसरे नंबर पर
  • ये हैं दुनिया की 10 सबसे घटिया एयरलाइंस,एयर इंडिया तीसरे नंबर पर
  • ये हैं दुनिया की 10 सबसे घटिया एयरलाइंस, एयर इंडिया तीसरे नंबर पर
    +11
इंटरनेशनल डेस्क. सरकारी विमानन कंपनी, एयर इंडिया को एक रिपोर्ट में दुनिया की तीसरी सबसे घटिया विमानन कंपनी बताया गया है। दुनिया भर में एयरलाइंस की व्यवस्थाओं पर नजर रखने वाली अमेरिका की ‘फ्लाइटस्टैट्स’ डेटा सर्विसेज ने यह रिपोर्ट जारी की है। रिपोर्ट में पहली और दूसरी घटिया कम्पनियों में इजरायल और आइसलैंड की एयरलाइंस को रखा गया है। रिपोर्ट साल 2016 की है, जिसे एयरलाइंस की खामियों और पैसेंजर्स की शिकायतों के आधार पर तैयार किया गया है। आगे की स्लाइड्स में पढ़ें, इन 10 एयरलाइंस के बारे में...
2 of 12
El Al इजरायल एयरलाइंस
El Al इजरायल एयरलाइंस
El Al इजरायल एयरलाइंस
3 of 12
El Al इजरायल एयरलाइंस
रेटिंग - 65 फीसदी
 
इजरायल की El Al एयरलाइंस को दुनिया की सबसे घटिया एयरलाइंस में पहले नंबर पर रखा गया है। एयरलाइंस को सबसे खराब रैटिंग कैबिन कम्फर्ट, घटिया फूड्स और अक्सर फ्लाइट्स के लेट होने के चलते दी गई। इसके अलावा सेफ्टी स्टाफ की कमजोरी भी लचर पाई गई। रिपोर्ट में कहा गया कि क्रू मेंबर्स और सेफ्टी स्टाफ कई बार शरारती मुसाफिरों को कंट्रोल नहीं कर सके। इसके चलते अन्य पैंसेंजर्स को भी तकलीफ हुई।
4 of 12
Icelandair आइसलैंडर एयरलाइंस
रैटिंग - 41.05 फीसदी
 
लंबे सफर के लिए आइसलैंडर एयरलाइंस बिल्कुल मुफीद नहीं। कई पैसेंजर्स ने बताया कि एयरलाइंस की सीटें बहुत संकरी हैं और सीटों के बीच स्पेस इतना कम होता है कि इन पर आराम से सोना बहुत मुश्किल है। वहीं, कई पैसेंजर्स ने अपने सामान के देर से मिलने और गुम होने की भी शिकायत दर्ज करवाई।
5 of 12
Air India इंडियन एयरलाइंस
रैटिंग - 38.71 फीसदी
 
साल 2016 के दौरान इंडियन एयरलाइंस रि-शेड्यूल और लेट होने के मामले में बदनाम रही। रिपोर्ट में बताया गया है कि साल भर में करीब 11 हजार फ्लाइट्स का टाइम बदला गया। वहीं, तकरीबन 16 हजार फ्लाइट्स 15-20 मिनट लेट रहीं।
6 of 12
Philippine फिलीपींस एयरलाइंस
रैटिंग - 38.33 फीसदी
 
फिलिपींस एयरलाइंस को सीट कंफर्ट, कैबिन स्टॉफ सर्विस, फूड, ग्राउंड सर्विस जैसी सभी मामलों में कुछ न कुछ खामियां पाई गईं। अधिकतर पैसेंजर्स की यही शिकायत थी कि अन्य फ्लाइट्स की तुलना में इस एयरलाइंस का फूड महंगा है। इसके अलावा फ्लाइट्स में एयरहोस्टेज सहित स्टाफ की भी कमी रहती है।
7 of 12
Asiana साउथ कोरिया एयरलाइंस
रैटिंग - 37.46 फीसदी
 
कई पैसेंजर्स ने लिखित में शिकायत दर्ज कराई कि एयरलाइंस की वेबसाइट पर दिए गए किराए और वसूले गए किराए में काफी अंतर था। वहीं, टिकट कैंसेलेशन की रकम इतनी है कि टिकट का किराया न मिलने के ही बराबर है। फूड की क्वॉलिटी बेहद घटिया है और फ्लाइट के स्टाफ मेंबर्स की संख्या कम है। फ्लाइट्स की सीटें भी आरामदायक नहीं हैं।
8 of 12
China Eastern चाइना एयरलाइंस
रैटिंग - 37.08 फीसदी 
 
फ्लाइट में एडवांस इक्विपमेंट्स यूज नहीं की जा रही हैं।सीट्स बरसों पुरानी स्टाइल की हैं, जो आज के आधुनिक प्लेन्स के मुकाबले कम आरामदायक हैं। एंटरटेनमेंट की अच्छी सुविधा नहीं है। वहीं, फ्लाइट्स के टिकट महंगे हैं। दावों के विपरीत वाई-फाई की सुविधा बहुत घटिया है। फूड की क्वॉलिटी बेहतर नहीं है। 
9 of 12
Hong Kong Airlines
रैटिंग - 33.42 फीसदी 
 
एंटरटेनमेंट की सुविधा ठीक नहीं है। कई बार फ्लाइट्स के लेट होने की भी शिकायतें मिलीं। पैसेंजर की संख्या बढ़ने के चलते एयरलाइंस सीटों का स्पेस कम कर रही है, जिससे सीटें आरामदायक नहीं रहीं।
10 of 12
Air China
रैटिंग - 32.73 फीसदी 
 
ग्राउंड सर्विस की कमी। एंटरटेनमेंट की अच्छी सुविधा नहीं है। वहीं, फ्लाइट्स के टिकट महंगे हैं। वाई-फाई की सुविधा न के बराबर है। वहीं, फूड की क्वॉलिटी बेहतर नहीं है। 
11 of 12
Korean Air साउथ कोरिया एयरलाइंस
रैटिंग - 31.74 फीसदी 

फ्लाइट में एडवांस इक्विपमेंट्स यूज नहीं की जा रही हैं। पिछले साल की तुलना में सीट्स आरामदायक बनाने की कोशिश हुई है। लेकिन, फूड व एंटरटेनमेंट की सुविधा की हालत खस्ता है। अधिकतर पैसेंजर्स ने महंगे किराए की भी बात कही। सेफ्टी मेंबर्स वेलट्रेंड नहीं है। इससे फ्लाइट्स में धमा-चौकड़ी मचाने वाले पैसेंजर्स पर कंट्रोल नहीं कर पाते।
12 of 12
Hainan Airlines
रैटिंग - 30.3 फीसदी 
 
घटिया एयरलाइंस में सबसे नीचे पायदान पर हैनान की एयरलाइंस है। पैसेंजर्स से मिले फीडबैक के आधार पर तैयार की गई रिपोर्ट में वाई-फाई, एंटरटेनमेंट और फूड की क्वॉलिटी को लेकर ही शिकायतें मिलीं।

RECOMMENDED

Advertisement
Advertisement